Food Precaution in Rainy Season: बारिश के मौसम में खाने की इन 5 चीजों का सेवन कभी ना करें

Food Precaution in Rainy Season:

Food Precaution in Rainy Season: बारिश के मौसम में खाने की इन 5 चीजों का सेवन कभी ना करें

मानसून के आते ही मौसम (Whether) बहुत सुहाना हो जाता है, इस समय पूरे भारत में मानसून ने दस्तक दे दी है। इस समय लोगों को गर्मी से छुटकारा तो मिल जाता है पर यह मानसून अपने साथ अनगिनत बीमारियाँ भी लेकर आता है। जिसमे वायरल इन्फेक्शन जैसी बीमारियाँ बहुत तेजी से फैलती हैं। इस समय अपने खान-पान का अच्छे से ध्यान रखना बेहद जरूरी हो जाता है। मानसून में खान-पान में किन-किन चीजों का परहेज करना चाहिये। आइये इसके बारे में विस्तार से चर्चा करते हैं।

Food Precaution in Rainy Season: स्वास्थ्य विशेषज्ञों की सलाह के अनुसार मानसून में खाने पीने का विशेष ध्यान रखने के साथ-साथ अपने घर को अच्छे से साफ रखना काफी अच्छा रहता है। इस मौसम में सेहत के प्रति किसी भी लापरवाही से संक्रमण का खतरा बना रहता है। हालांकि बारिश के मौसम में समोसा, पकौड़ी जैसी चीजों को ज्यादा खाने का मन करता है। लेकिन ज्यादा तैलीय चीजें खाना इस मौसम में बीमारियों को बुलावा देने के जैसा है। अगर हो सके तो इन चीजों को घर में ही साफ-सफाई के साथ बना के खायें, इससे किसी भी प्रकार की बीमारी का खतरा बहुत हद तक कम हो जाता है।

Food Precaution in Rainy Season: बारिश के मौसम में बीमारियों से बचने के लिए क्याक्या नहीं खाना चाहिए:

1.  हरी सब्जियों का सेवन न के बराबर करें।
बरसात के मौसम में किसी भी प्रकार के फंगस एवं बैक्टीरिया के फैलने का खतरा काफी बढ़ जाता है इसलिये इस मौसम में हरी पत्ते वाली सब्जियाँ जैसे पालक, मेथी, साग, पत्तागोभी आदि को खाने से परहेज करना चाहिये। इससे पेट में संक्रमण का खतरा बना रहता है क्योकि पत्तेदार सब्जियों में छोटे कीड़े मकोड़ों के पनपने की दर बरसात के मौसम में काफी हद तक बढ़ जाती है। करेले और टिण्डे की सब्जी बारिश के मौसम में गुणकारी होती है।

2.  मसालेदार एवं तला भुना खानाः

तली हुयी और मसालेदार चीजों का सेवन करना वैसे भी किसी मौसम में बेहद हानिकारक होता है। ऐसी चीजों के दुष्परिणाम दूरगामी होते है। इसलिये हमको इन चीजों के खाने में ज्यादा संकोच नहीं होता। परन्तु आपको बता दें कि बरसात के मौसम में ज्यादा मसालेदार और तला भुना खाना खाने से आपके पेट की पाचन क्रिया पर पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है
3.  दही का सेवनः
चूंकि दूध में लैक्टोबैसिलस बैक्टीरिया के पनपने से ही दही बनता है, ये बैक्टीरिया सेहत के हिसाब से बरसात के मौसम में सही नहीं माने जाते हैं। इसलिये इस मौसम में पैकेज्ड डेयरी उत्पाद के सेवन से बचना चाहिये।
4.  मांसाहारी भोजन के सेवन से बचेंः
बारिश के मौसम में ज्यादा चर्बी वाले भोजन को पचाने में बहुत मुश्किल होती है क्योंकि इस मौसम में हमारे शरीर की पाचन क्रिया धीमी हो जाती है। इसलिये इस मौसम में मांसाहार करने से परहेज करना चाहिये।
5.  सलाद का सेवनः
बारिश के मौसम में काटकर रखी गयी फल और सब्जियों का सेवन नहीं करना चाहिये क्योंकि इस मौसम में चलने वाली हवा में नमी होने के कारण फंगस और बैक्टीरिया के लगने का खतरा बढ़ जाता है। अगर आपको सलाद का सेवन करना है तो आप तुरन्त ही काटकर सलाद खा सकते है लेकिन बाद में इसके सेवन से परहेज करना चाहिये।

Food Precaution in Rainy Season: आइये जानते है कि बारिश में मौसम में किन-किन चीजों का सेवन करना सही माना गया है:

जून के माह में तेज गर्मी के बाद जुलाई में मौसम में अचानक से बदलाव के कारण सर्दी, बुखार, दस्त, खांसी जैसी बीमारियों का खतरा काफी बढ़ जाता है। ऐसे में बारिश के मौसम में क्या खाना चाहिये क्या नहीं इसका ख्याल रखना बेहद जरूरी हो जाता है। इसी क्रम मेें आइये जानते हैं कि बारिश में किन चीजों का सेवन गुणकारी होता है।
1.  गर्म/गुनगुने पानी का सेवनः
गर्म पानी का सेवन बारिश के मौसम में बहुत अधिक फायदेमंद हो सकता है। बारिश के मौसम में गले में खराश होना, नाक का बन्द होना और नाक का बहना आम बात होती है। ऐसे में गर्म पानी पीने से इस तरह की परेशानियों से निजात पायी जा सकती है। दिन में कम से कम दो बार सुबह और शाम में गुनगुने पानी का सेवन करना लाभदायक होता है।
2.  खट्टे फलों का सेवनः
आंवला, संतरा और मोसम्मी जैसे खट्टे फलों का सेवन करना या इनका ताजा जूस पीना बारिश के मौसम में लाभकारी हो सकता है। इन फलों में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो आपके लीवर को स्वस्थ रखने में बहुत ही मददगार होता है इससे आपकी पाचन क्रिया भी सही बनी रहती है।

3.  सूखे मेवे का सेवनः

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सूखे मेवे अहम भूमिका निभाते हैं, चूँकि सूखे मेवे को खाने के परिणाम तुरंत नहीं दिखते हैं परन्तु इसके दूरगामी परिणाम बहुत ही अच्छे होते हैं। ड्राइ फ्रूट्स विटामिन, प्रोटीन एवं फाइबर से भरपूर होते है इसलिये बारिश के मौसम में इनको खाना बहुत ही लाभप्रद हो सकता है। इनके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहती है और बीमारियों से भी बचाव हो सकता है।

4.  हर्बल चाय का सेवनः

हर्बल चाय में जीवाणुरोधी गुण मौजूद होने के कारण बारिश के महीने में होने वाले संक्रमण से बचाव करने में बहुत ही उपयोगी सिद्व हो सकता है। बरसात में कोशिश करें कि सामान्य चाय की जगह हर्बल टी का ही उपयोग करें।

बारिश के मौसम में जलभराव होने के कारण मच्छरों से फैलने वाली बीमारियों की संख्या बढ़ जाती है। और इस मौसम में आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम हो जाती है। ऐसे में जरा सा भी वायरल की चपेट में आने पर बिना बारिश में भीगे ही आप बीमार पड़ सकते हैं। इसलिये ऊपर दी गयी जानकारियों का प्रयोग वातावरण के अनुकूल एवं अपनी सुविधा के अनुसार कर सकते है।

डिस्क्लेमरः  उपरोक्त लेख एक जानकारी मात्र है इसका इस्तेमाल किसी भी प्रकार के दवा या इलाज के विकल्प के रूप में नहीें किया जा सकता है। किसी भी समस्या के लिये हमेशा अपने डाक्टर से सलाह जरूर लें।

 

आप यह भी पसन्द कर सकते हैंः

Sawan me Somwar Puja: 2023 में सावन 2 महीनों का होगा, पूजा की उत्तम विधि जानने के साथ इस महीने के अन्य लाभ भी जान लें।
ICC Cricket World Cup 2023: Information on Free Ticket Booking & Rates-भारत में आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2023, टिकट की कीमत और आरक्षण प्रक्रियाः

Leave a Comment