Chandrayan-3 Latest Update: चन्द्रमा की परिधि में चंद्रयान-3 का सफलतापूर्वक प्रवेश

Chandrayan-3 Latest Update:

Chandrayan-3 Latest Update: चन्द्रमा की परिधि में चंद्रयान-3 का सफलतापूर्वक प्रवेश

चंद्रयान-3 अपने सफर का लगभग दो-तिहाई फासला तय करके चंद्रमा की परिधि (Lunar Orbit) में पहुंच चुका है। इसकी जानकारी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने ट्वीट करके दी। जिसमें यह बताया गया है कि चंद्रयान-3 ने दो तिहाई दूरी पूरी कर ली है और अब यह पृथ्वी के प्राकृतिक उपग्रह अर्थात चन्द्रमा के चक्कर लगाना शुरू करेगा। अर्थात चंद्रयान-3, चन्द्रमा की गोलाकार कक्षा में 06 अगस्त 2023 की शाम को पहुँच चुका है।

च्ंद्रयान-3 मिशन को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने 14 जुलाई 2023 को लांच किया था और अब यह मिशन अपने बहुत ही महत्वपूर्ण फेज में पहुँच चुका है क्योंकि यह अंतरिक्ष यान अब चंद्रमा के बहुत करीब पहुँच चुका है। इसरो के टेलीमेट्री, ट्रैकिंग और कमांड नेटवर्क ने अंतरिक्ष यान से लूनार आर्बिट का सफलतापूर्वक निष्कासन करके चंद्रमा की कक्षा में पहुँचा दिया है।

Chandrayan-3 Latest Update:  किस काम आयेगा यह अंतरिक्ष यान (चंद्रयान-3)

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के द्वारा 14 जुलाई 2023 को चंद्रयान-3 अंतरिक्ष यान को लांच किया गया। जिसने सर्वप्रथम अपनी धरती की 5 परिक्रमा पूरी की और उसके बाद पृथ्वी के आर्बिट से बाहर की परिक्रमा शुरू की और इसी क्रम में यह 16 अगस्त तक चंद्र के आर्बिट में रहकर चंद्रमा के चक्कर लगायेगा और फिर 17 अगस्त के बाद से यह चंद्रमा की सतह की ओर बढ़ना प्रारंभ करेगा और अंत में अंतरिक्ष बैज्ञानिकों के मुताबिक 23 अगस्त 2023 को चंद्रमा की सतह पर लैंड करेगा।
इस दौरान चंद्रयान-3 में बहुत सारे बदलाव देखने को मिलेंगे और यही बदलाव आगे चलकर हमारे देश के बहुत कााम आयेंगे। आइये समझते हैं कि चंद्रयान-3 की पूरी यात्रा में क्या क्या बदलाव होंगे। आपको बता दें कि चंद्रयान-3 में लैंडर, रोवर और प्रोपल्शन माड्यूल लगे हुये है जो कि 16 अगस्त 2023 तक चंद्रमा की परिधि में रहकर चंद्रमा के चक्कर लगायेंगे इसके बाद जब यह अंतरिक्ष यान चंद्रमा की सतह की ओर बढ़ेगा तब इसमें से इसका प्रोपल्शन माड्यूल अलग हो जायेगा और पहले की भांति ही चंद्रमा की परिधि में घूमता रहेगा और वहां से पृथ्वी से फैलने वाली विकिरण/रेडियेशन की जानकारी एकत्र करेगा।

Chandrayan-3 Latest Update:

अब चंद्रयान में सिर्फ लैडर और रोवर बचे हैं, जो चंद्रमा की सतह तक जायेंगे जिसमें से लैंडर चंद्रमा की सतह पर उतरेगा और रोवर उसमें से अलग होकर वहांँ की सतह पर घूमकर बहुत सारी अहम जानकारी एकत्रित करेगा। इसमें लैडर और रोवर को जो नाम इसके पिछले मिशन चंद्रयान-2 में दिया गया था वही नाम इस बार भी है। भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक माने जाने वाले डाॅ0 विक्रम ए. साराभाई के नाम पर लैंडर को विक्रम नाम दिया गया है।

Chandrayan-3 Latest Update:  इसरो के मिशन चंद्रयान-3 में लगे लैंडर के बारे में अहम जानकारीः

जैसा कि आप सभी को पता ही होगा कि चंद्रयान-2 मिशन में लैंडर के सही ढ़ंग से चंद्रमा की सतह पर ना उतर पाने की वजह से उसका धरती से संपर्क टूट गया था और वह मिशन अपने आखिरी समय में पहुँचकर भी विफल हो गया था। इसलिये इस समय सभी भारतवासियों के साथ साथ अंतरिक्ष बैज्ञानिको की उम्मीदें एक बार फिर से लैंडर के सही तरीके से चंद्रमा की सतह पर उतरने को लेकर लगी हुयी हैं लैंडर की सही तरीके से लैंडिंग को सुनिश्चित करने के लिये कई सेंसर लगाये गये हैं जिसको पृथ्वी से नियंत्रित किया जा सकता है और लैडर खुद भी इन सेंसर की मदद से अपनी सुरक्षा कर सकता है। इस बार विक्रम लैंडर का वजन रोवर सहित कुल 1749 किलोग्राम है इसमें लगे सोलर पैनल की मदद से 738 वाट की पावर उत्पन्न हो सकती है। ये मिशन चंद्रमा के एक दिन के बराबर काम करेगा। चंद्रमा के एक दिन की तुलना अगर पृथ्वी से करें तो ये 14 दिनों के बराबर होता है।

Chandrayan-3 Latest Update:  अन्तर्राष्ट्रीय मंच पर भारत का दबदबा

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के द्वारा लांच किया गया चंद्रयान-3, चांद की सतह पर सुरक्षित और सॉफ्ट लैंडिंग के लिए देश की क्षमताओं को प्रदर्शित करेगा। इसके बाद चीन अमेरिका और रूस के बाद भारत चैथा देश बन जायेगा। चन्द्रयान-3 को पृथ्वी से लांचिंग के बाद चंद्रमा की कक्षा तक पहुंचने में लगभग 33 दिन का समय निर्धारित किया गया है और चंद्रमा की सतह पर उतरने के बाद यह अंतरिक्ष यान लगभग 14 दिनों तक अपना काम करेगा जो कि चंद्रमा के एक दिन के बराबर होगा।

Chandrayan-3 Latest Update:  23 अगस्त को पूरा होगा चंद्रयान-3 मिशन

च्ंद्रयान-3 मिशन को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने 14 जुलाई 2023 को लांच किया था। 5 अगस्त 2023 को इसरो के द्वारा यह जानकारी दी गयी कि अंतरिक्ष यान को सफलतापूर्वक चंद्रमा की कक्षा में स्थापित कर दिया गया है और यह प्रयास उस समय किया गया जब चंद्रयान-3 चंद्रमा के सबसे करीब था, इसरो के अंतरिक्ष बैज्ञानिकों के मुताबिक चंद्रयान-3 (Chandrayan-3), 23 अगस्त 2023 को चंद्रमा की सतह पर साॅफ्ट लैंडिंग करेगा।

Source: Amar Ujala

आप यह भी पसन्द कर सकते हैंः

ISRO PSLV-C56: सिंगापुर के 7 सैटेलाइट को लेकर अंतरिक्ष में भरी उड़ान।

ICC Cricket World Cup 2023: Information on Free Ticket Booking & Rates-भारत में आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2023, टिकट की कीमत और आरक्षण प्रक्रियाः

Leave a Comment